Shayari: पढ़िए गणतंत्र दिवस की वो शायरियां, जो आपके दिल में जगा देंगी देशभक्ति का जोश

ना पूछो जमाने से कि क्या हमारी कहानी है, हमारी पहचान तो बस इतनी है कि हम सब हिंदुस्तानी हैं गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं!

दिल से निकलेगी न मर कर भी वतन की उल्फ़त मेरी मिट्टी से भी ख़ुशबू-ए-वफ़ा आएगी

लहू वतन के शहीदों का रंग लाया है उछल रहा है ज़माने में नाम-ए-आज़ादी

वतन की सर-ज़मीं से इश्क़ ओ उल्फ़त हम भी रखते हैं खटकती जो रहे दिल में वो हसरत हम भी रखते हैं गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं!

दें सलामी इस तिरंगे को जिससे हमारी शान है, सर हमेशा ऊंचा रखना इसका, जब तक आप में जान है

ऐ मेरे वतन के लोगों तुम खूब लगा लो नारा ये शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा पर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गंवाए कुछ याद उन्हें भी कर लो जो लौट के घर न आये…

सारे जहां से अच्छा हिंदुस्तान हमारा, हम बुलबुले हैं उसके वो गुलसितां हमारा, परबत वो सबसे ऊंचा हमसाया आसमां का, वह संतरी हमारा वो पासबां हमारा!