MP Police Constable Admit Card 2021

नई दिल्ली. लंबे इंतजार के बाद मध्य प्रदेश प्रोफेशनल  एग्जामिनेशन बोर्ड (MPPEB) ने 4000 पुलिस कॉन्स्टेबल (MP Police Constable  exam admit card released) के पदों पर भर्ती का एडमिट कार्ड जारी कर दिया  है. जिन अभ्यर्थियों ने परीक्षा के लिए आवेदन किया है. वो ऑफिशियल वेबसाइट  पर जाकर एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं. डाउनलोड का स्टेप्स ऑफिशियल  वेबसाइट पर दिया गया है

हालांकि, peb.mponline.gov.in की वेबसाइट पर सर्च ज्यादा होने की वजह से  क्रैश हो गई है. इसलिए अभ्यर्थियों को एडमिट कार्ड डाउनलोड करने में  दिक्कत आ रही है. अभ्यर्थियों को सलाह है कि वो घबराएं नहीं और वेबसाइट  खुलने के बाद एडमिट कार्ड डाउनलोड करें. बता दें कि कुल 4000 वैकेंसी में  से 3862 पद जीडी कॉन्स्टेबल और 138 पद रेडियो कॉन्स्टेबल के हैं.

मध्य प्रदेश प्रोफेशनल बोर्ड एग्जामिनेशन की तरफ से दी जानकारी की मानें तो  पुलिस कॉन्स्टेबल भर्ती के लिए कुल 12 लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है.  इन पदों पर इनका चयन लिखित एग्जाम, फिजिकल एफिशिएंसी टेस्ट और मेडिकल टेस्ट  के बाद किया जाएगा. अधिक जानकारी अभ्यर्थी पूर्व में जारी नोटिफिकेशन में  चेक कर सकते हैं.

एडमिट कार्ड ऐसे करें डाउनलोड - सबसे पहले ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं. - इसके बाद एडमिट कार्ड लिंक पर क्लिक करें. - अपना पर्सनल डिटेल्स इँटर कर सबमिट करें. - एडमिट कार्ड आपके सामने होगा. - एडमिट कार्ड की एक प्रति डाउनलोड कर अपने पास रख लें.

अभ्यर्थियों को सलाह है कि वो एडमिट कार्ड डाउनलोड करने के बाद उसमें दी गई  गाइडलाइंस जरूर पढ़ लें और उसी हिसाब से तैयारी करके परीक्षा केंद्र पर  जाएं. साथ में एडमिट कार्ड जरूर लेकर जाएं, क्योंकि बिना एडमिट कार्ड के  किसी भी अभ्यर्थी को परीक्षा केंद्र में प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

अभ्यर्थी इन बातों का रखें ध्यान - अपने साथ एडमिट कार्ड लेकर जरूर जाएं. क्योंकि बिना एडमिट कार्ड के किसी भी अभ्यर्ती को प्रवेश नहीं दिया जाएगा. - अपने साथ एक आईडी प्रूफ जैसे- आधार कार्ड, पैन कार्ड, डीएल या पासपोर्ट में से कोई एक जरूर  लेकर जाएं. - साथ में एक एक फोटो जरूर लेकर जाएं. ध्यान रहे फोटो वही हो जो फॉर्म में लगी है. -

- मास्क और हैंड सैनिटाइजर जरूर लेकर जाएं. - कोई भी नकल की सामाग्री साथ लेकर न जाएं. अगर नकल से जुड़ी कोई भी  सामाग्री किसी भी अभ्यर्थी के पास मिलेगी, तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई  की जाएगी और उसे एग्जाम भी नहीं देने दिया जाएगा.